You have entered the world of InnerSoul …!


You’ll find positive, Motivational thoughts... In poetry few are written by Me n others too & Some r Translated also. I feel that thoughts heighten the awareness of our feelings & world around us.

Luv V/s RelationShip...


5 comments:

रश्मि प्रभा said...

श्री ने सही कहा.....प्यार तो मौन को भी पढता है,समझता है,एक स्पर्श की अनुभूति बहुत कुछ कह जाती है....इसकी व्याख्या नहीं हो सकती....हो भी सकती है, ये आँखों से छलकती है, जाने कैसे छा जाती है........

નીતા કોટેચા said...

किसी भी रिश्ते में नाम आये तो वो रिश्ता एक हक्क माने लगता है....
परा बिना नाम के रिश्ते में जो मजा है वो किसी और रिश्ते में नहीं..
किसीको नहीं भी देखो तो भी एक अपनापन लगता है..और कही लोग रोज मीलते है तो भी एक बेगानापन लगता है...

anuradhagugnani said...

प्यार एहसास है ..उसे किसी रिश्ते मै नहीं बांधा जा सकता

ND Pandey's Blog said...

love is a feeling , it depends on u, it is ur ability that upto what extanct u find ,feel n share it with others.

राजीव करूणानिधि said...

प्यार एक अनमोल वास्तु है जिसे सिर्फ़ महसूस किया जा सकता है. एक शानदार लेख के लिए बधाई.